Dr. Shailendra Singh (H.O.D.)

Prof. HIRENDRA BAHADUR THAKUR

’’युवा इतिहासकारों ने प्राचीन नगरी को देखें, समझे इतिहास के महत्व’’

स्थानीय शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय राजनांदगांव के इतिहास के छात्र/छात्राओं का 118 लोगों का टीम इतिहास विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. पी. डी. सोनकर एवं प्रो. हीरेन्द्र ठाकुर के निर्देशन में प्राचीन नगरी खरौद, शिवरीनारायण तथा गुरूघांसीदास के जन्म स्थली विश्व के सबसे ऊंचा जैतखाम के दर्शन किये ।

इतिहास के छात्र/छात्राओं ने प्राचीन नगरी खरौद जहाॅं लक्ष्यलिंग स्थापित है जो सोमवंशी राजाओं के समय का है मंदिर के संदर्भ में मंदिर स्थित शीलालेख भी देखें और प्राचीन छत्तीसगढ़ के इतिहास को समझे । रामायण कालीन शिवरी तथा भगवान राम के कहानी से जुड़ा हुआ स्थल शिवरीनारायण का दर्शन कर इतिहास के महत्व से रूबरू हुए ।