‘‘यूथफाॅर एकात्मता’’ प्रतियोगिता में दिग्विजय कालेज को राज्य में सर्वश्रेश्ठ प्रदर्षन का प्रथम पुरस्कार

युवाओं को कथित राज्य युवा आयोग द्वारा आयोजित राज्य सरकार की महात्वा कांक्षी प्रतियोगिता ‘‘यूथफाॅर एकात्मता ’’ में दिग्विजय महाविद्यालय राज्य के मुख्यमंत्री डाॅ. रमन द्वारा ‘‘सर्वश्रेश्ठ प्रदर्षन’’ का प्रथम पुरस्कार प्रदान किया गया। इसी प्रतियोगिता में राज्य भर के सातलाख प्रतियोगियों के बीच दिग्विजय कालेज की एम.एस.सी. रसायनषास्त्र की छात्रा कु. हेमलता ठाकुर ने तृतीय स्थानअर्जित कर इक्कीसहजार रू. इनाम राषि से  मुख्यमंत्री के हाथों सम्मानित की गई ।
संस्था के प्राचार्यडाॅ.आर.एन.सिंह ने प्रतियोगिता के विशय में जानकारी देते हुए बताया कि राज्य युवा आयोग के तत्वाधान में छत्तीसगढ़ राज्य के सभी प्रकार के लगभग 750 महाविद्यालयों के विद्यार्थियों के लिए पांच चरणों में‘‘ युथफार एकात्मप्रतियोगिता’’आयोजित की गई। दिग्विजय महाविद्यालय में प्रो.माजिद अली एवं प्रो त्रिलोकदेव ने नोडलअधिकारी के रूप में पांच चरणों में प्रतियोगिता सम्पन्न कराई। प्रथम चरण में लिखित परीक्षा आयोजित की गई। जिसमें प्रदेष भर में सर्वाधिक दिग्विजय महाविद्यालय से 2736 विद्यार्थियों ने भागलिया। इस चरण में पन्द्रह मिनट में छ0ग0 षासन की किसी एक जनकल्याणकारी योजना के उपर दस वाक्यों में उत्तर लिखना था। प्रथम चरण डाॅ.एच.एस.भाटिया डाॅ.संजय ठिसके, डाॅ.कैलाष देवागंन ने सफलता पूवर्क संपन्न कराया । प्रथम चरण के चयनित प्रथम बीस विद्यार्थियों को आगे के चरणों में मोबाईल द्वारा छ0ग0 की संस्कृति, सामान्य ज्ञान संबंधित प्रष्नों के उत्तर न्यूनतम समय में देने थे। द्वितीय से चतुर्थ चरणों के आयोजन में महाविद्यालय के प्राध्यापकों की टीम श्रीमती सोनलमिश्रा, प्रो.युनुसरजा बेग, प्रो.गोकुलनिशाद, प्रो.प्रियंका सिंह, प्रो.संजय सप्तर्शिप्रो. हिरेन्द्रबहादूर, प्रो.विनय मसियारे ने चयनित विद्यार्थियों को विषेश प्रषिक्षण तथा सहायता प्रदान की । पंचम तथा अन्तिम चरणमें छ0ग0 की महिला सषक्तिकरण आईकाॅन पदम श्रीफूलबासनबाई यादव तथा उनके महिलास्व-सहायता समूह के कार्यो पर तीन मिनट की डाक्यूमेण्टी बनाना था। इसचरण में हिन्दी के प्राध्यापक डाॅ.चन्द्रकुमार जैन का विषेश योगदान एवं मार्गदर्षन रहा। पद्मश्री फूलबासन बाई यादव ने विषेश सहयोग प्रदान कर डाक्यूमेन्टी बनाने में सहायता की जिसके परिणाम पंचम चरण प्रतियोगिता एम.एस.सी. अन्तिम रसायन षास्त्र की छात्रा कु.हेमलताठाकुर ने प्रदेष में तृतीय स्थान अर्जित कर माननीय मुख्यमंत्री डाॅ.रमनसिंह के कर कमलों से इक्कीस हजार से सम्मानित की गई।
प्राचार्य डाॅ.सिंह ने आगे बताया कि ‘‘यूथफार एकात्म’’ प्रतियोगिता महाविद्यालय विद्यार्थियों की पूर्णत‘ आनलाईन संभवत: भारत की सबसे बड़ी प्रतियोगिता है। ऐसे आयोजनों से युवाओं को अपने संस्कृति को जानने समझने तथा एडवांस टेक्नोलाॅजी के सकारात्मक उपयोग करने का प्रोत्साहन मिलता है। उन्हो ने महाविद्यालय टीम तथा छात्रा हेमलता को षुभकामनाएं दी।